WTC Final: इंग्लैंड के खिलाफ तैयारी से फाइनल में न्यूजीलैंड का पलड़ा भारी, लेकिन हम हर चुनौती के लिए तैयार- चेतेश्वर पुजारा

World Test Championship Final: भारत और न्यूजीलैंड के बीच 18 जून से इंग्लैंड के साउथैम्प्टन में आईसीसी वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप (डब्ल्यूटीसी) का फाइनल खेला जाना है. इस मुकाबले से पहले न्यूजीलैंड ने इंग्लैंड को दो टेस्ट मैचों की सीरीज में मात देकर अपना पलड़ा भारी कर लिया है. कई पूर्व दिग्गज खिलाड़ियों का मानना है कि इंग्लैंड के खिलाफ खेली गई इस सीरीज से डब्ल्यूटीसी फाइनल के लिए न्यूजीलैंड की तैयारी बेहद मजबूत हुई है और भारत के खिलाफ होने वाले मैच में उसे इसका फायदा मिल सकता है. भारत के मध्यक्रम के बल्लेबाज चेतेश्वर पुजारा का भी मानना है कि इंग्लैंड के खिलाफ खेली गई इस सीरीज से डब्ल्यूटीसी फाइनल से पहले न्यूजीलैंड की टीम आगे नजर आ रही है. हालांकि उन्होंने ये भी कहा कि उनकी टीम इस चुनौती के लिए पूरी तरह तैयार है और इस खिताबी मुकाबले को जीतने में वो कोई कसर नहीं छोड़ेंगे.

बीसीसीआई टीवी से बात करते हुए चेतेश्वर पुजारा ने कहा, “फाइनल मुकाबले से पहले इंग्लैंड के खिलाफ दो टेस्ट मैच खेलने का फायदा न्यूजीलैंड को मिलेगा. हालांकि हम भी इस मैच में अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन देने के लिए पूरी तरह तैयार हैं. हमें पता है कि हमारे पास इस मुकाबले में अच्छा प्रदर्शन करने और इसे जीतने का पूरा दमखम मौजूद है.” साथ ही उन्होंने कहा, “हम उनकी तैयारियों पर ज्यादा ध्यान नहीं दे रहे हैं. डब्ल्यूटीसी फाइनल से पहले जो समय बचा है हम उस दौरान केवल अपनी तैयारी और बेहतर करने पर फोकस करना चाहते हैं. अगर हम इस समय का अपनी तैयारियों के लिए सही इस्तेमाल कर लेते हैं तो फाइनल मैच की चुनौती के लिए हम पूरी तरह से तैयार होंगे.”

इंग्लैंड के मौसम के साथ तालमेल बैठाना बड़ी चुनौती 

साथ ही पुजारा का मानना है कि मैच के दौरान इंग्लैंड में मौसम लगातार बदलता है और खिलाड़ियों के लिए इसके साथ तालमेल बैठाना एक बड़ी चुनौती है. उन्होंने कहा, “इंग्लैंड में जब आप खेलते हैं तो एक ही दिन में कई बार मौसम बदलता है. बल्लेबाजों के लिए इन अलग अलग हालात में खेलना बेहद कठिन होता है. यहां बार बार बेहद कम समय के लिए बारिश होती रहती है. इसके चलते आपको कई बार मैदान से बाहर जाना पड़ता है. इसकी वजह से आपकी बल्लेबाजी की लय पर भी असर पड़ता है और मैदान पर लौटने पर आपको हर बार अपनी पारी को दोबारा शुरू करनी पड़ती है, जो कि एक बहुत बड़ी चुनौती है. इस दौरान आपको मानसिक तौर पर बेहद मजबूत होना होता है.”

साथ ही उन्होंने कहा, “डब्ल्यूटीसी के फाइनल तक पहुंचना व्यक्तिगत तौर पर मेरे लिए बहुत मायने रखता है. मैं केवल टेस्ट क्रिकेट खेलता हूं और मेरे लिए ये इस खेल का सबसे चुनौतीपूर्ण फ़ॉर्मैट है. हमनें इस मुकाम तक पहुंचने के लिए एक टीम के तौर पर बहुत ज्यादा मेहनत की है. इस फाइनल को जीतना हमारे लिए बेहद खास होगा.”   

AuthenticCapitalstore

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *