French Open: बारबोरा क्रेजिकोवा ने अनस्तासिया पावलिचेनकोवा को हराकर जीता फ्रेंच ओपन का खिताब

चेक गणराज्य की बारबोरा क्रेजिकोवा (Barbora Krejcikova) ने रूस की अनस्तेसिया पावलिचेनकोवा को 2-1 से हराकर फ्रेंच ओपन टेनिस टूर्नामेंट के महिला एकल का खिताब अपने नाम कर लिया है. उन्होंने 6-1, 2-6, 6-4 से मुकाबले को अपने नाम किया है. इसके साथ ही उन्हें पहला ग्रैंड स्लैम खिताब जीतने में कामयाबी भी मिल गई है. 40 साल बाद चेक गणराज्य की किसी महिला ने यह खिताब जीता है.

इससे पहले क्रेजिकोवा ने सेमीफाइनल मैच में यूनान की मारिया सकारी को 7-5, 4-6, 9-7 से हराया था. वहीं, पावलिचेनकोवा ने स्लोवानिया की तमारा जिदानसेक को 7-5, 6-3 से हराकर फाइनल में प्रवेश किया था. यह दोनों खिलाड़ी पहली बार किसी ग्रैंड स्लेम खिताब के लिए फाइनल में पहुंचीं थीं. बारबोरा ने करियर में पहली बार ग्रैंड स्लैम का फाइनल खेला. मैच जीतने के साथ ही उन्होंने दूसरा डब्ल्यूटीए एकल खिताब भी अपने नाम कर लिया. उन्होंने पिछले महीने फ्रांस के स्ट्रासबर्ग में खिताब अपने नाम किया था. हालांकि, फाइनल मैच के दौरान उन्हें चोट भी लगी, जिसके बाद मौके पर ही उन्हें इलाज कराना पड़ा.  फ्रेंच ओपन महिला वर्ग में लगातार छठी बार कोई नयी चैम्पियन बनी है. 

शानदार रहा बारबोरा क्रेजिकोवा का प्रदर्शन

रोलां गैरो में बारबोरा क्रेजिकोवा ने शानदार प्रदर्शन किया. वह ग्रीस की मारिया साकारी को हराकर पहली बार किसी ग्रैंड स्लैम के फाइनल में पहुंचीं थीं. वहीं, 29 वर्षीय अनास्तासिया अपने ग्रैंड स्लैम डेब्यू के 14 साल बाद ग्रैंड स्लैम का फाइनल खेल रही थीं, लेकिन वो खिताब नहीं जीत सकीं. गौरतलब है कि साल 2007 में  अनास्तासिया ने विंबलडन में वाइल्डकार्ड के जरिए प्रवेश कर ग्रैंड स्लैम में डेब्यू किया था. 

ये भी पढ़ें :-

IND Vs NZ: फाइनल के लिए तैयार हैं ट्रेंट बोल्ट, परेशानी को भी बयां किया

WTC Final: वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप के फाइनल के लिए वीरेंद्र सहवाग ने रोहित शर्मा को दिए खास टिप्स

AuthenticCapitalstore

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *