इंग्लैंड के तेज गेंदबाज ओली रॉबिंसन ने क्रिकेट से लिया ब्रेक, नस्लभेद के मामले में चल रही है जांच

इंग्लैंड के तेज गेंदबाज ओली रॉबिंसन पिछले 10 दिन के अंदर अर्श से फर्श पर आ गए हैं. रॉली रॉबिंसन ने पिछले हफ्ते न्यूजीलैंड के खिलाफ टेस्ट डेब्यू किया और वह डेब्यू में सबसे कामयाब गेंदबाज रहे. लेकिन कई साल पहले की गई नस्लभेदी टिप्पणी की वजह से रॉबिंसन को ईसीबी ने संस्पेंड करने का फैसला किया. मुश्किल वक्त से गुजर रहे रॉबिंसन ने सभी तरह के क्रिकेट से ब्रेक ले लिया है. 

रॉबिंसन ने हालांकि थोड़े समय के लिए क्रिकेट से ब्रेक लिया है और वह ससेक्स के लिए टी20 ब्लास्ट के पहले दो मैचों में उपलब्ध नहीं होंगे. इंग्लैंड एंड वेल्स क्रिकेट बोर्ड ने न्यूजीलैंड के खिलाफ लॉर्ड्स टेस्ट खत्म होने के बाद रॉबिंसन को निलंबित किया था. इसके बावजूद वह काउंटी की टीम ससेक्स के लिए खेल सकते हैं.

हालांकि क्लब ने बयान जारी कर कि रॉबिंसन ने कुछ समय के लिए क्रिकेट से ब्रेक लिया है. क्लब ने बयान जारी कर कहा, “मुश्किल सप्ताह के बाद रॉबिंसन ने कुछ समय के लिए ब्रेक लेने का फैसला लिया है, जिससे वह अपने परिवार के साथ कुछ समय बिता सकें. क्लब के लिए खिलाड़ियों का स्वास्थ्य और मानसिक स्वास्थ्य सर्वोपरि है.”

रॉबिंसन का साथ दे रहा है ससेक्स

ससेक्स लगातार रॉबिंसन के संपर्क में बना हुआ है. क्लब की ओर से जारी बयान में कहा गया, “जब भी रॉबिंसन वापस आना चाहेंगे हम उनका क्लब में स्वागत करेंगे. हम लगातार रॉबिंसन के संपर्क में हैं.”

ससेक्स ने बताया कि काउंटी क्लब ईसीबी के रॉबिंसन को निलंबित करने के बाद भी तेज गेंदबाज का समर्थन करता रहेगा क्योंकि रॉबिंसन ने इस मामले से सीख ली है. बयान के मुताबिक, “रॉबिंसन उस ट्वीट को करने के बाद से काफी अलग व्यक्ति हो गए हैं और उन्होंने इतने वर्षो में काफी कुछ सीखा है.”

बता दें कि ओली रॉबिंसन ने न्यूजीलैंड के खिलाफ पहले टेस्ट में डेब्यू किया था. लेकिन डेब्यू के तुरंत बाद ही सोशल मीडिया पर उनके पुराने ट्वीट्स वायरल होने लगे. ईसीबी ने इस मामले में जांच के आदेश किए और तब तक के लिए रॉबिंसन को इंटरनेशनल क्रिकेट से सस्पेंड कर दिया गया.

ENG Vs NZ: दूसरे टेस्ट में कायम है न्यूजीलैंड का दबदबा, ब्रॉड ने इंग्लैंड को दिलाईं अहम सफलताएं

AuthenticCapitalstore

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *