WTC Final में न्यूजीलैंड के खिलाफ कैसा होना चाहिए टीम इंडिया का गेंदबाजी अटैक, आकाश चोपड़ा ने बताया

भारत और न्यूजीलैंड के बीच 18 जून से शुरू हो रहे विश्व टेस्ट चैंपियनशिप फाइनल (WTC Final) से पहले एक तरफ जहां टीम इंडिया इंग्लैंड में अभ्यास में जुटी है तो वहीं दूसरी तरफ न्यूजीलैंड की टीम इंग्लैंड के साथ उसकी धरती पर 2 मैचों की टेस्ट सीरीज खेल रही है. दोनों टीमों के बीच खेला गया पहला टेस्ट मुकाबला ड्रॉ रहा. ऐसे में कई पूर्व क्रिकेटर्स का मानना है कि न्यूजीलैंड की टीम को इंग्लैंड के साथ जारी टेस्ट सीरीज खेलने की वजह से वहां की परिस्थिति को बेहतर तरीके से समझने में मदद मिलेगी. इस बीच पूर्व भारतीय बल्लेबाज आकाश चोपड़ा ने बताया कि भारतीय टीम को विश्व टेस्ट चैंपियनशिप फाइनल में किन स्पिनर्स के साथ मैदान पर उतरना चाहिए. साथ ही उन्होंने इसके पीछे की वजह भी बताई.

आकाश चोपड़ा का मानना ​​है कि विराट कोहली एंड कंपनी को न्यूजीलैंड के खिलाफ 18 जून से शुरू हो रहे विश्व टेस्ट चैंपियनशिप फाइनल के लिए रविचंद्रन अश्विन और रवींद्र जडेजा दोनों स्पिनर को टीम में शामिल करना चाहिए. उन्होंने कहा कि भारत को स्पिन के खिलाफ कीवी टीम की संभावित कमजोरी को ध्यान में रखते हुए अश्विन और जडेजा सहित पांच गेंदबाजों के साथ मैदान में उतरना चाहिए.

न्यूजीलैंड की टीम ने हाल ही में इंग्लैंड के खिलाफ पहला टेस्ट खेला. लेकिन उसे एक स्पेशलिस्ट स्पिनर का सामना नहीं करना पड़ा क्योंकि विपक्षी खेमे में जो रूट एकमात्र स्पिनर गेंदबाज थे. चोपड़ा का कहना है कि अश्विन और जडेजा इंग्लिश कंडीशंस में अच्छा प्रदर्शन कर सकते हैं.

इंग्लिश कंडीशन में भी अच्छा कर सकते हैं दोनों: आकाश चोपड़ा
चोपड़ा ने अपने यूट्यूब चैनल पर कहा कि जडेजा-अश्विन दोनों को टीम में जगह मिलनी चाहिए. विपक्षी टीम न्यूजीलैंड है न कि एशियाई टीम जो स्पिन को बेहतर तरीके से खेलती है. मैं बस यही कहता हूं कि जड्डू और अश्विन सहित पांच गेंदबाजों को खिलाओ. दोनों अंग्रेजी परिस्थितियों में भी अच्छा कर सकते हैं. उन्होंने कहा कि हां, आपके दिमाग में यह जरूर है कि स्पिनरों को इंग्लिश कंडीशंस में ज्यादा मदद नहीं मिल सकती है, लेकिन हमने देखा है कि बल्लेबाजी आसान हो जाती है जब गेंदबाजी अटैक सिर्फ एक जैसा हो जाता है.

AuthenticCapitalstore

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *