दो देशों के लिए इंटरनेशनल क्रिकेट खेल चुके हैं ये खिलाड़ी, लिस्ट में इंग्लैंड के मौजूदा कप्तान का नाम भी शामिल

<p>बीते दिन आयरलैंड के तेज़ गेंदबाज़ बॉयड रैंकिन ने इंटरनेशनल क्रिकेट को अलविदा कह दिया. इसके बाद से ही रैंकिन चर्चा का विषय बने हुए हैं. लेकिन रैंकिन की चर्चा उनके इंटरनेशनल करियर की वजह से नहीं बल्कि उनके एक अनोखे रिकॉर्ड की वजह से हो रही है. दरअसल, रैंकिन के नाम दो देशों से इंटरनेशनल क्रिकेट खेलने का रिकॉर्ड है. हालांकि, रैंकिन कोई इकलौते क्रिकेटर नहीं है, जिन्होंने दो देशों से इंटरनेशनल क्रिकेट खेला है. आज हम आपको कुछ ऐसे ही खिलाड़ियों के बारे में बताने जा रहे हैं. जिन्होंने दो देशों की टीमों के लिए इंटरनेशनल क्रिकेट खेला है.</p>
<p><strong>1- इयोन मोर्गन</strong></p>
<p>इंग्लैंड की लिमिटेड ओवर टीम के कप्तान इयोन मोर्गन ने भी दो देशों के लिए इंटरनेशनल क्रिकेट खेला है. इंग्लैंड से पहले वह आयरलैंड की टीम के लिए इंटरनेशनल क्रिकेट खेलते थे. यहां तक कि वह 2007 वनडे विश्व कप में आयरलैंड के लिए खेले थे. इंग्लैंड को 2019 विश्व कप का खिताब जिताने वाले मोर्गन इंग्लैंड के लिए वनडे क्रिकेट में सबसे ज्यादा रन बनाने वाले बल्लेबाज़ हैं.&nbsp;</p>
<p><strong>2- डर्क नैनस</strong></p>
<p>डर्क नैनस का जन्म नीदरलैंड में हुआ था. वो आईपीएल में बतौर तेज़ गेंदबाज़ दिल्ली डेयरडेविल्स, रॉयल चैलेंजर्स बैंग्लोर और चेन्नई सुपरकिंग्स के लिए खेले. फिर वापस नीदरलैंड की टीम में बुला लिए गए. उन्होंने नीदरलैंड के लिए काफी इंटरनेशनल क्रिकेट खेला. हालांकि, 2010 में आईसीसी वर्ल्ड टी-20 में उन्हें ऑस्ट्रेलिया की टीम में जगह मिली. उन्होंने ऑस्ट्रेलिया के लिए वो वर्ल्ड कप खेला. इस तरह उन्होंने पहले नीदरलैंड्स के लिए और बाद में ऑस्ट्रेलिया के लिए इंटरनेशनल क्रिकेट खेला.</p>
<p><strong>3- ल्यूक रॉन्की</strong></p>
<p>ल्यूक रॉन्की विश्व के इकलौते ऐसे क्रिकेटर हैं, जिन्होंने दो प्रमुख देशों की क्रिकेट टीमों के लिए इंटरनेशनल क्रिकेट खेला है. रॉन्की ने पहले ऑस्ट्रेलिया के लिए इंटरनेशनल क्रिकेट में डेब्यू किया और फिर न्यूजीलैंड के लिए भी इंटरनेशनल क्रिकेट खेला. वह लंबे समय तक न्यूजीलैंड की टीम का हिस्सा रहे.&nbsp;</p>
<p><strong>4- एड जोएस</strong></p>
<p>एड जोएस ने 2006 में इंग्लैंड के लिए इंटरनेशनल क्रिकेट में अपना डेब्यू किया था, लेकिन उन्हें टीम में ज्यादा मौके नहीं दिए गए. लेफ्ट हैंड के इस बल्लेबाज़ के पास प्रतिभा की कोई कमी नहीं थी, लेकिन इसके बावजूद इंग्लैंड में उन्हें मौका नहीं मिल रहा था. इसके बाद जोएस ने पड़ोसी मुल्क आयरलैंड से खेलना का फैसला किया. वह आयरलैंड के प्रमुख खिलाड़ियों में से एक हैं. 77 वनडे में उनके नाम 2622 रन हैं.&nbsp;</p>
AuthenticCapitalstore

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *