वीरेंद्र सहवाग ने दिल्ली में की ऑक्सीजन कंसेंट्रेटर बैंक की शुरुआत, लोगों से की ये खास अपील

भारत के पूर्व सलामी बल्लेबाज वीरेंद्र सहवाग ने दिल्ली में एक ऑक्सीजन कंसेंट्रेटर बैंक की शुरुआत की है. इसके तहत जरूरतमंदों तक ऑक्सीजन कंसेंट्रेटर पहुंचाई जा सकेगी. वीरेंद्र सहवाग ने ट्विटर पर एक वीडियो शेयर किया है. इस वीडियो के जरिए उन्होंने लोगों से #RahatKiSaans मुहिम से जुड़ने की अपील की है.

उन्होंने कहा, “कुछ दिन पहले मेरे एक दोस्त को ऑक्सीजन कंसेंट्रेटर की जरूरत थी. हमने बहुत कोशिश की और कुछ घंटे बाद हमें एक ऑक्सीजन कंसेंट्रेटर मिल पाया.” उन्होंने कहा, “इस घटना के बाद से हमने तय किया कि हम वैसे मरीजों की सहायता करेंगे जिन्हें ऑक्सीजन कंसेंट्रेटर की सख्त जरूरत है.”

वीडियो के जरिए उन्होंने बताया, “अभी के समय में लोग ऑक्सीजन कंसेंट्रेटर की कालाबाजरी कर रहे हैं. 50 हजार रुपये में मिलने वाले ऑक्सीजन कंसेंट्रेटर को 2 से 3 लाख रुपये में बेच रहे हैं. ये काम गैर-कानूनी है और ऐसे लोगों को कड़ी से कड़ी सजा मिलनी चाहिए.”

उन्होंने कहा, “समय आ गया है कि हम सभी मिलकर जरूरतमंदों की मदद करें. देश में इस समय ऑक्सीजन ना मिलने की वजह से भारी संख्या में मरीजों की जान जा रही है. ऐसे में हमने तय किया है कि हम ऑक्सीजन कंसेंट्रेटर बैंक की शुरूआत करें जहां जरूरतमंद मरीजों के लिए आसानी से ऑक्सीजन कंसेंट्रेटर मिल सके.” उन्होंने लोगों से भी अपील की है कि वे भी इस मुहिम का हिस्सा बनें और इस ऑक्सीजन कंसेंट्रेटर बैंक के बारे में बताएं.

जरूरतमंदों के लिए एक व्हाट्सऐप नंबर जारी 

वीरेंद्र सहवाग ने जरूरतमंदों के लिए एक व्हाट्सऐप नंबर (9024333222) भी जारी किया है, जिसके तहत ऑक्सीजन बैंक से संपर्क किया जा सकता है. उन्होंने logon को जरूरत के हिसाब से ऑक्सीजन कंसेंट्रेटर दिलाने का भरोसा भी दिलाया है. बता दें कि इस समय दिल्ली के कई अस्पतालों में ऑक्सीजन की भारी कमी देखी जा रही है. ऐसे में मरीजों की परेशानी और ज्यादा बढ़ गई है. हालांकि, केंद्र और राज्य सरकार साथ मिलकर इस परेशानी को हल करने में जुटी हुई है.

यह भी पढ़ें- 

बिहारः अररिया के रानीगंज में बमबाजी और फायरिंग, जमीन विवाद में भिड़े दो पक्ष; बाल-बाल बचे सरपंच

पूर्व मंत्री नीरज कुमार ने लालू परिवार को बताया ‘ट्वीट फैमिली’, कहा- आपदाकाल में दुबक कर बैठे हैं सभी


AuthenticCapitalstore

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *