WhatsApp में होने वाला है बदलाव, एक्सेप्ट करनी होगी नई प्राइवेसी पॉलिसी, नहीं तो बंद हो सकता है अकाउंट

इंस्टेंट मैसेजिंग ऐप WhatsApp अपनी प्राइवेसी पॉलिसी को लेकर एक बार फिर सुर्खियों में है. अब व्हाट्सऐप ने नई पॉलिसी तैयार की है, जिसमें आपको 15 मई तक व्हाट्सऐप की नई प्राइवेसी पॉलिसी को मंजूर करना पड़ेगा. कंपनी ने इससे जुड़ी नई गाइडलाइंस तैयार कर ली हैं. पिछली बार हुए विवाद को देखते हुए कंपनी इस बार पूरी सावधानी बरत रही है. WhatsApp की ओर से नई प्राइवेसी पॉलिसी की मंजूरी को लेकर डेडलाइन भी तय कर दी गई है. आपको 15 मई तक नई प्राइवेसी पॉलिसी को मंजूर करना होगा, नहीं तो आपका WhatsApp अकाउंट बंद हो सकता है.
 
एक्सेप्ट करना होगा नोटिफिकेशन
WhatsApp दोबारा प्राइवेसी पॉलिसी को एक्सेप्ट करने को लेकर नोटिफिकेशन जारी करने जा रहा है. कुछ लोगों ने पहले ही WhatsApp पॉलिसी को एक्सेप्ट कर लिया है. ऐसे लोगों को कुछ भी करने की जरूरत नहीं है. रिपोर्ट में कहा गया है कि यूजर्स 15 मई के बाद भी प्राइवेसी पॉलिसी को एक्सेप्ट कर पाएंगे. इसके लिए कंपनी की ओर से इनऐक्टिव यूजर्स पॉलिसी लागू होगी. अगर आपने पॉलिसी एक्सेप्ट नहीं की तो कंपनी आपकी पूरी मैसेज हिस्ट्री को परमानेंट डिलीट कर देगी. इसका मतलब आपके मैसेज डिलीट होने के बाद वापस नहीं आ पाएंगे. इसके अलावा अगर आपने WhatsApp की नई प्राइवेसी पॉलिसी को मंजूर नहीं किया तो आपको एक तय समय के बाद सभी WhatsApp ग्रुप से हटा दिया जाएगा.

डेटा है सुरक्षित
WhatsApp की नई पॉलिसी को लेकर लोगों के मन में डर है. लोगों को इस बात का खतरा है कि कहीं व्हाट्सऐप पर शेयर किया गया हमारा डेटा लीक न हो जाए या उसका कोई गलत इस्तेमाल न कर ले. हालांकि कंपनी ने यूजर्स को पूरी तरह से संतुष्ट करने की कोशिश की है. WhatsApp का कहना है कि यूजर्स की निजता के अधिकार का पूरा ध्यान रखा गया है. बिना यूजर की सहमति के उसका डेटा किसी को भी नहीं दिया जाएगा. इसके अलावा लोगों की पर्सनल चैट एनक्रिप्टेड (Encrypted) फॉर्म में ही रहेगी. इसका मतलब आपकी WhatsApp चैट को कोई नहीं देख पाएगा यहां तक कि Facebook भी नहीं.

पॉलिसी में इस बात पर था विवाद
आपको बता दें इसी साल जनवरी में WhatsApp की नई प्राइवेसी पॉलिसी को लेकर काफी हंगामा हुआ था. इस पॉलिसी के मुताबिक यूजर का डेटा जैसे मोबाइल नंबर, ईमेल आईडी, फोन का मॉडल, लोकेशन जैसे जानकारी व्हाट्सऐप अपनी सह कंपनी Facebook और Messenger, Instagram और थर्ड पार्टी के साथ शेयर करने की बात कर रही थी. इस नई व्हाट्सऐप पॉलिसी पर काफी विवाद हुआ था. हालांकि बाद में इसे लेकर कंपनी ने सफाई दी और पॉलिसी में कई बदलाव भी किए. 

ये भी पढ़ें: दिनभर WhatsApp का इस्तेमाल करते हैं तो अभी सेट करें डार्क मोड फीचर, आंखों में नहीं होगी ये परेशानी

AuthenticCapitalstore

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *