साबरमती सुसाइडः आयशा की आत्महत्या की पूरी कहानी, जानें- कौन है उसका पति जिससे मरते दम तक किया बेइंतहा प्यार

नई दिल्लीः अहमदाबाद की आयशा के आखिरी वीडियो में कैद है सुसाइड से पहले का आखिरी बयान. मौत को गले लगाने से ठीक पहले दर्द का आखिरी दस्तावेज. आयशा ने इस आखिरी वीडियो में वो सारा का सारा दर्द बयान कर डाला जिसकी वजह से उसकी जिंदगी में उथल-पुथल मची हुई थी. इस वीडियो को देखकर आप भी आयशा के दर्द को महसूस कर सकते हैं. दर्द, सिर्फ मरने का नहीं बल्कि मौत से भी बदतर जिंदगी जीने का. आयशा की दर्दभरी कहानी सुनकर उसकी मायूसी और बेबसी के साथ आपका ऐसा रिश्ता कायम हो जाएगा कि उसकी डबडबाई आंखें आपकी आंखों को भी नम कर देंगी.

वीडियो में आयशा की लड़खड़ाती आवाज सुनकर आपका कलेजा कांप जाएगा. उसके दर्द को महसूस करके आप भी. अंदर तक सिहर जाएंगे. आयशा के आखिरी बयान में सिर्फ उसकी तकलीफों को ही जिक्र नहीं है बल्कि इस वीडियो में आयशा ने अपने गुस्से और नफरत का भी खुलकर इजहार किया है.

ऐसा लगता है कि इंसानी रिश्तों पर से आयशा का भरोसा पूरी तरह उठ चुका था. ऐसा लगता है कि उसके दिल के जज्बात जख्मी हो चुके थे. वो अंदर से टूट चुकी थी और शायद इसीलिए उसने आत्मघाती कदम उठाने का फैसला किया था. वो भी कैमरे के सामने. जब तक इस वीडियो की रिकॉर्डिंग चलती रही- तब तक आयशा की सांसें चलती रहीं उसका दिल धड़कता रहा लेकिन, जैसे ही रिकॉर्डिंग बंद हुई-उसकी सांसों पर भी हमेशा के लिए ब्रेक लग गए.

आयशा महज 23 साल की थी. अभी तो उसके हंसने-खेलने के दिन थे. अभी तो उसे अपनी जिंदगी में खुशियों के रंग भरने थे. अभी तो उसे कई सतरंगी ख्वाब बुनने थे. फिर ऐसा क्या हुआ कि उसे अपनी जिंदगी बेइमानी लगने लगी. ऐसा क्या हुआ कि उसने अपने हाथों से अपनी जिंदगी खत्म कर डाली. इन सवालों के जवाब हम आपको देंगे लेकिन उससे पहले पढ़िए आयशा के आखिरी फोन कॉल की कहानी.

आयशा की आखिरी फोन कॉल

माता-पिताः कहां पर है तू ?

आयशा- रिवरफ्रंट पर हूं. आ रही हूं मैं.

माता-पिताः मैं मोंटू को भेजता हूं. हैलो? सुनो मेरी बात सुन बेटा

आयशा- मुझे कुछ नहीं सुनना पापा

माता-पिताः गलत बात मत कर ले अपनी अम्मी से बात कर

आयशा- मुझे कुछ नहीं सुनना मुझे बस पानी में कूदना है.

मम्मी-पापा आयशा को समझा रहे थे कि वो नदी में कूदकर खुदकुशी ना करे लेकिन आयशा तो उनकी एक भी बात सुनने को तैयार नहीं थी.

आयशा- मुझे नहीं जीना. मैं थक गई हूं.

माता-पिताः अल्लाह मालिक हैं. माफ करेगा.

आयशा- मुझे किसी से बात नहीं करनी. उसे नहीं लाना मेरी जिंदगी में, उसे आजादी चाहिए ना.

आयशा- बोलता है कि तुम मरने जा रही हो ना. वीडियो बनाकर भेज देना. ठीक है मैंने वीडियो दे दी उसको. मैं मरने जा रही हूं तुम्हारे पास कोई नहीं आएगा.

माता-पिताः ऐसा करना मत कुछ भी

आयशा- वीडियो भेज दी अब मैं मरना चाहती हूं

माता-पिताः बेटा…

आयशा- बहुत हुआ…थक गई हूं लाइफ से…परेशान आ गई हूं…कब तक सहूं मैं…

आयशा किससे आजादी पाना चाहती थी

आखिर वो कौन शख्स था. जिसने आयशा से मरने की बात कही थी. वो कौन शख्स था, जिसने आयशा से कहा था कि मरने से पहले वीडियो जरूर भेज देना. आखिर वो कौन शख्स था- जो आयशा से आजादी पाना चाहता था. इन सभी सवालों का एक ही जवाब है-आरिफ खान. आयशा का पति- आरिफ खान. आयशा की खुदकुशी से उसके पति आरिफ खान का क्या ताल्लुक है-अब आप ये भी जान लीजिए.

अहमदाबाद की रहने वाली आयशा की जुबान पर सुसाइड से पहले एक ही नाम था- आरिफ खान. आयशा का पति आरिफ खान राजस्थान के जालौर का रहने वाला है और पिछले कई महीनों से उनके रिश्ते में दूरियों की दरार आ गई थी. आयशा के परिवारवालों ने आरिफ के खिलाफ मारपीट और दहेज प्रताड़ना का केस भी दर्ज करवा रखा था. दोनों का रिश्ता टूटने के कगार पर था और इसकी टीस आयशा के चेहरे पर उसकी आवाज में साफ-साफ नजर आ रही थी.

कहा जा रहा है कि साबरमती नदी में कूदकर खुदकुशी से पहले आयशा ने ये आखिरी वीडियो भी अपने पति आरिफ खान के लिए ही रिकॉर्ड किया था. आरोप है कि आरिफ खान ने आयशा से कहा था कि मरना है तो मर जाओ. लेकिन मरने से पहले वीडियो जरूर भेज देना. इस बात का जिक्र खुद आयशा ने अपने वीडियो में किया था.

इस वीडियो में आयशा ने बार-बार अपने पति की बेरुखी का जिक्र किया. कभी नाम लेकर, तो कभी नाम लिए बगैर. सुसाइड से पहले आयशा ने जब अपने मम्मी-पापा से आखिरी बार फोन पर बात की-तब भी वो अपने पति आरिफ की नाराजगी के बारे में बात कर रही थी. पिता ने कहा था कि वो जालौर जाकर उसके पति को मना लेगा, लेकिन आयशा ने साफ-साफ कह दिया कि अब कोई फायदा नहीं. बहुत देर हो चुकी है.

किसने दी अम्मा की कसम

माता-पिताः आयशा मुबारक नाम है तेरा. अम्मा की कसम है तुझे तू घर आएगी

आयशा- बच गई तो ले जाना नहीं तो दफन कर देना

माता-पिताः मैं कल जालोर जा रहा हूं. कुछ भी करके मैं सब कुछ सुलझा दूंगा.

आयशा- अब आपको आरिफ से जो बात करनी है कर लो.

माता-पिताः मेरी बात नहीं मानेगी ?

आयशा- अब मौत करीब है. अब नहीं जीना, बहुत हुआ ना यार. कब तक परेशान रहूंगी खुद के लिए, सबको परेशान करती रहूंगी.

आयशा को उसके मम्मी-पापा ने समझाने की लाख कोशिशें की-लेकिन उसकी बातों से तो ऐसा लग रहा था कि मौत को गले लगाने से पहले आयशा वो तमाम शिकवे-गिले और शिकायतें बयान कर देना चाहती थी जो उसे अपने पति से मिले थे. आयशा को लगता था कि उसकी शादीशुदा जिंदगी में सबकुछ खत्म हो चुका है.

आयशा- पता नहीं कोई सॉल्यूशन नहीं है मेरी जिंदगी का

माता-पिताः सोल्यूशन है बेटा. सब सोल्यूशन है

आयशा- वो बोलता है कि केस नहीं किया होता तो फिर भी सोचता

माता-पिताः कल मैं जाकर बात करता हूं, केस वापस ले लेंगे, सब सुलझ जाएगा

आयशा- वो नहीं आएगा फिर भी मेरी जिंदगी में

माता-पिताः उसका बाप भी आएगा मेरी बात पर भरोसा कर

आयशा- मैंने बहुत सुन लिया

माता-पिताः तुझे कुरान शरीफ की कसम है तू घर आ जा बेटा

आयशा- अरे अब नहीं आना

ऐसा लगता है कि आयशा ये ठानकर घर से निकली ती कि वो जिंदा वापस नहीं लौटेगी. ये आखिरी वीडियो इशारा कर रहा है कि आयशा का पति आरिफ खान ही है. उसकी सुसाइड का विलेन आयशा की मौत के बाद अब आरिफ खान बेहद संगीन आरोपों से घिर गया है. अब उस पर कानून का शिकंजा कसने लगा है. आयशा की खुदकुशी के बाद से ही उसका पति आरिख खान सवालों के घेरे में है.

अहमदाबाद पुलिस ने आरिफ खान के खिलाफ IPC की धारा 306 के तहत FIR दर्ज की है. IPC की धारा 306 का मतलब होता है-खुदकुशी के लिए उकसाना. किसी को खुदकुशी के लिए उकसाना एक बेहद गंभीर अपराध माना जाता है.

आयशा ने खुदकुशी से पहले कहा- ‘अल्लाह से दुआ करती हूं दोबारा इंसानों की शक्ल न दिखाए’, नदी में छलांग लगाई और मौत को गले लगा लिया 

AuthenticCapitalstore

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *